कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी - 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन

पूरे देश में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया हैं। अब 31 मई तक लॉकडाउन प्रभावी रहेगा। सरकार द्वारा 31मई तक बढ़ाये गये Lockdown का पालन जरूर करे। कोरोना जैसी महामारी को देश में फैलने से रोकने के लिये और खुद इससे बचने के लिये घर से बाहर न निकले। सरकार द्वारा दिये जा रहे निर्देशों का पालन जरूर करे।

Internet in Hindi - इंटरनेट क्या हैं,इसका आविष्कार कब और किसने किया ?

हम दिन भर कम्प्युटर,लैपटाप और मोबाइल में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। Internet के बिना वर्तमान की कल्पना करना भी नामुमकिन सा लगता हैं। लेकिन इंटरनेट क्या होता हैं ( Internet in Hindi ) टॉपिक पर पूरी जानकारी बहुत कम लोगों को हैं।


आज के दौर में यदि इंटरनेट कुछ समय के लिये बंद हो जाये तो करोडों रूपये का नुकसान हो जाता है। आखिरकार इंटरनेट में ऐसी क्या खास चीज है,इंटरनेट का मतलब और अर्थ क्या होता है आदि सवालों के जबाव की जानकारी इस पोस्ट में दी जा रही हैं। तो आइये "इंटरनेट इन हिन्दी" टॉपिक पर पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं।

internet-kya-hai-internet-kaise-kaam-karta-hain


What is internet in Hindi ( इंटरनेट क्या होता है,इसका अर्थ और मतलब हिन्दी में क्या हैं )


इंटरनेट एक ऐसा नेटवर्क है जिसके द्वारा पूरी दुनिया के कम्प्युटर,मोबाइल आदि डिवाइस आपस में जुड़े रहते हैं और एक दूसरे के साथ सूचनाओं का आदान - प्रदान कर सकते हैं। Internet का फुल फॉर्म 'interconnected network' होता हैं।  इंटरनेट का फुल फॉर्म हिन्दी में "इंटरकनेक्टेड नेटवर्क" होता हैं।

इंटरनेट एक प्रकार का Worldwide Computer Network हैं जिसे हिन्दी में वैश्विक कम्प्युटर नेटवर्क कहा जाता हैं। इस नेटवर्क पर एक कम्प्युटर से दूसरे कम्प्युटर में डेटा,सूचनाओं का आदान - प्रदान TCP/IP के द्वारा होता हैं।

एक ऐसा नेटवर्क जो दुनिया भर में उपकरणों को जोड़ने के लिए इंटरनेट प्रोटोकॉल सूट (टीसीपी / आईपी) का उपयोग करता है,इंटरकनेक्टेड नेटवर्क कहलाता है। इसे हम सामान्य बोलचाल की भाषा में इंटरनेट कहते है।

चूंकि internet के द्वारा हमें विश्व भर की सूचनाएँ मिल जाती है इस कारण इसे सूचना का हाइवे ( Information Superhighway ) भी कहा जाता हैं।

इंटरनेट काम कैसे करता हैं ?


आखिर कैसे इंटरनेट के द्वारा एक कम्प्युटर से किसी भी प्रकार की इन्फॉर्मेशन दूसरे कम्प्युटर के साथ शेयर की जाती है,इसे समझने के लिये पहले आपको इन सभी शब्दों के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

  • TCP/IP
  • Server Computer 
  • User Computer


TCP/IP - जैसा कि हम सभी जानते है,इंटरनेट के द्वारा सभी कम्प्युटर आपस में जुड़े हुये हैं। TCP (ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल) एक कम्प्युटर से दूसरे कम्प्युटर में डेटा ट्रान्सफर करने के लिये एक सिस्टम के रूप में IP ( इंटरनेट प्रोटोकॉल ) के साथ काम करता हैं। यह इसका निर्धारण करता है कि कैसे एक कम्प्युटर से दूसरे कम्प्युटर में डेटा,इन्फॉर्मेशन भेजी जायेगी।

जब हम किसी कम्प्युटर या मोबाइल को पहली बार इंटरनेट के साथ कनैक्ट करते है तो उसका एक IP Address बन जाता हैं। इस आईपी एड्रैस के द्वारा ही हम इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाते हैं।

Server Computer और User Computer - सर्वर कम्प्युटर और यूजर कम्प्युटर को समझने के लिये हम एक उदाहरण लेते हैं।


मान लीजिये कि एक इंटरनेट नेटवर्क में 50 कम्प्युटर जुड़े हुये हैं। इनमें से एक कम्प्युटर में कोई डेटा ( डेटा कुछ भी हो सकता है जैसे कोई विडियो,औडियो,डॉकयुमेंट फ़ाइल आदि ) पड़ा है जो बाकी 49 कम्प्युटर को भी चाहिये।

अब जिस कम्प्युटर में डेटा पड़ा हैं,वह कम्प्युटर सर्वर कम्प्युटर कहलाता है तथा जिन बाकी 49 कम्प्युटर को वह डेटा चाहिये वह सभी User Computers कहलाते हैं।

internet-kaam-kaise-karta-hai


अब इंटरनेट काम कैसे करता हैं,इसे समझना बहुत आसान हैं। 

विश्व भर के कम्प्युटर TCP/IP का इस्तेमाल करके एक दूसरे से जुड़कर आपस में इन्फॉर्मेशन को शेयर करते हैं। इन सभी computers के network के जाल को ही समूहिक रूप से इंटरनेट कहा जाता हैं। इंटरनेट में जब किसी कम्प्युटर को दूसरे कम्प्युटर से कोई सूचना,डेटा या कोई इन्फॉर्मेशन चाहिये तो  इन्फॉर्मेशन देने वाला कम्प्युटर सर्वर कहलाता हैं और इन्फॉर्मेशन को ग्रहण करने वाला कम्प्युटर यूजर कहलाता हैं।

विश्व भर में इंटरनेट नेटवर्क में ऐसे बहुत से सर्वर और यूजर होते हैं जो आपस में डेटा ट्रान्सफर करते है और सूचनाओं को एक जगह से दूसरी जगह तक भेजते हैं।

इंटरनेट से जुड़े के लिये हमें किसी मोबाइल,कम्प्युटर या ऐसे डिवाइस की जरूरत पड़ती है जो इंटरनेट से जुड़ सकने की क्षमता रखता हो जिसमें इंटरनेट एक्सैस किया जा सके। इसके बाद हमें ISP ( इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर ) के द्वारा इंटरनेट सर्विस की जरूरत पड़ती है।

ISP ऐसी कंपनी होती हैं जो हमारे डिवाइस को इंटरनेट प्रोटोकॉल के माध्यम से इंटरनेट एक्सैस करने की अनुमति प्रदान करती हैं। जैसे हम बिना सिम या वाईफाई के इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। Airtel,BSNL,IDEA,JIO आदि ISP ही हैं।

Internet History in Hindi ( इंटरनेट की खोज/आविष्कार किसने और कब किया ) इंटरनेट का इतिहास


सन 1960 के आस - पास अमेरिका की सांइस एंड टेकनोलॉजी के क्षेत्र की एक Agency थी जिसका नाम ARPA ( Advanced Research Projects Agency) था। इसने कुछ कम्प्युटर को आपस में जोड़ने के लिये एक नेटवर्क विकसित किया जिसे ARPANet नाम दिया था।

अमेरिकी रक्षा विभाग ने 1969 में ARPANET विकास के लिए रॉबर्ट टेलर और लॉरेंस रॉबर्ट्स नामक दो व्यक्तियों को कमान सौंपी थी। इसे पहले ऐसे नेटवर्क के रूप में जाना जाता था जिससे कुछ कम्प्युटर को आपस में एक नेटवर्क से जोड़ा जा सकता था। इसमें सूचनाओं को सुरक्षित रखने के लिये डाटा पैक पैकेट स्विचिंग तकनीक का इस्तेमाल किया था।

फिर सन 1973 में Stanford University के Vint Cerf और Robert Elliot Kahn के द्वारा Transmission Control Protocol (TCP) और Internet Protocol (IP) की खोज करने के बाद ARPA ने अपने द्वारा विकसित किये गये ARPANet नेटवर्क में TCP/IP का इस्तेमाल करना शुरू किया।


फिर सन 1980 के दशक में National Science Foundation (NSF) जो की अमेरिका की ही एक Agency है ने ARPANet नेटवर्क को आगे बढ़ाते हुये NSFNET प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया। धीरे - धीरे NSFNet को अमेरिका में अन्य संस्थाओं,कंपनी आदि के साथ जोड़ा गया। इस प्रकार NSFNET ने ही इंटरनेट नेटवर्क की नींव रखी थी।

इंटरनेट के उपयोग,इंटरनेट का इस्तेमाल किन - किन क्षेत्रों में किया जा रहा हैं ?


आजकल इंटरनेट का इस्तेमाल मानव के साथ संबंधित हर एक क्षेत्र में हो रहा हैं जैसे -

1 - संचार माध्यम के रूप में - इंटरनेट का सबसे अधिक इस्तेमाल सूचनाओं के आदान - प्रदान में किया जाता हैं। आजकल लोग फ़ेसबूक,व्हाट्सएप आदि के द्वारा पूरी दुनिया के साथ जुड़े रहते हैं।

2 - Education ( शिक्षा ) - शिक्षा के क्षेत्र में इंटरनेट ने क्रांति उत्त्पन कर दी हैं। आजकल इंटरनेट के द्वारा वंचित तबकों तक भी शिक्षा की पहुंच हो चुकी है।

3 - वित्तीय लेनदेन - आजकल लोग पैसे के आदान-प्रदान के लिए इंटरनेट का ही इस्तेमाल करते हैं। भारत में भी digital india के तहत ऐसे लोगों की संख्या में बहुत इजाफा हुया है जो online payment करते हैं।

4 - अपडेट - दुनिया भर में क्या कुछ घटित हो रहा हैं,इसकी जानकारी लोगों को इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे ही मिल रही हैं। इस कारण लोग इंटरनेट का इस्तेमाल खुद को अपडेट रखने के लिए करते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि, "इंटरनेट क्या होता हैं ? इंटरनेट का इतिहास क्या है ? Internet in Hindi" टॉपिक पर आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। यदि यह पोस्ट आपको पसंद आती है तो इसे शेयर जरूर करे।
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a Comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।