Credit Score क्या होता हैं ? हिन्दी में पूरी जानकारी

जिंदगी में हमे कई बार कुछ विशेष कार्यों के लिए लोन की आवश्यकता पड़ती हैं। लोन लेने के लिए बैंक में जाकर आवेदन किया जा सकता है। लेकिन बैंक सभी ग्राहको को लोन नहीं देता हैं। Bank चाहता हैं कि वे केवल उसी ग्राहक को लोन दे जो भविष्य में लोन को किश्तों के माध्यम से भर सके। जिससे बैंक को किसी भी तरह का आर्थिक नुकसान न हो। 

credit-score-kya-hota-hai-credit-score-ki-hindi-me-puri-jankari


क्या आपको लोन मिलेगा ? आपको मिलने वाले लोन कि ब्याज दर कितनी होगी ? क्या बैंक आपको लोन देने में इच्छुक हैं ? यह सब आपके Credit Score पर निर्भर करता हैं। यदि आपका Credit Score अच्छा हैं तो आपको Bank के द्वारा Loan मिलने में आसानी होगी लेकिन यदि आपका Credit Score अच्छा नहीं हैं तो बैंक आपको लोन देने में इच्छुक नहीं होगा। 


तो आखिर कैसे Credit Score आपको मिलने वाले Loan को प्रभावित कर सकता हैं ? इस पोस्ट में हम इन सभी सवालों का जबाव देने वाले हैं। आइये क्रेडिट स्कोर क्या होता हैं,यह बैंक से मिलने वाले लोन को किस प्रकार से प्रभावित कर सकता हैं ? इन सभी सवालों के जबाव तलाशते हैं। 

Credit Score क्या होता हैं ? क्रेडिट स्कोर की हिन्दी में जानकारी 


Credit Score एक संख्या होती हैं जो 300 से 900 के बीच होती हैं। कम संख्या का मतलब हैं कि क्रेडिट स्कोर अच्छा नहीं हैं और अधिक संख्या का मतलब हैं कि क्रेडिट स्कोर अच्छा हैं। 

जब भी कोई ग्राहक किसी भी वित्तीय संस्था,बैंक आदि से लोन,क्रेडिट कार्ड लेता हैं तो वो बैंक या वित्तीय संस्था उस ग्राहक के लोन,क्रेडिट कार्ड,ऋण भुगतान आदि का विवरण क्रेडिट ब्यूरो को हर महीने देते हैं। 

इस प्रकार Credit Bureau के द्वारा हर ग्राहक के लोन,क्रेडिट कार्ड,ऋण भुगतान को देखकर उसने लोन की किश्तें का समय पर भुगतान किया हैं या नहीं,उसने बैंक से लिया गया लोन समय पर चुका दिया हैं या नहीं आदि बातों को आधार मानकर Credit Score का निर्धारण करते हैं। 

इस प्रकार किसी भी ग्राहक के द्वारा लोन,क्रेडिट कार्ड से संबंधित लेन - देन को देखकर Credit Bureau उस ग्राहक के Credit Score का निर्धारण करते हैं। 

एक्सपीरियन,सिबिल जैसे Credit Bureau इसे तय करते हैं। यदि कोई ग्राहक Bank से लिए गये Credit Card,Loan आदि का भुगतान देरी से करता हैं या नहीं करता हैं तो उस ग्राहक का क्रेडिट स्कोर उतना ही कम होता हैं लेकिन यदि कोई ग्राहक तय समय में बैंक से लिए गये लोन को चुका देता हैं तो उसका क्रेडिट स्कोर उतना ही अधिक होता हैं। 

जब आप बैंक से लोन लेने जाते हैं तो बैंक सबसे पहले आपका CREDIT SCORE चेक करते हैं। अगर आपका क्रेडिट स्कोर 700 से अधिक होता हैं तो Bank आपको अच्छे Loan Offers प्रदान करते हैं। 

CIBIL Credit Bureau के द्वारा भी Credit Score का निर्धारण किया जाता हैं। इस कारण क्रेडिट स्कोर को CIBIL SCORE भी कहा जाता हैं। 

Bank के द्वारा Loan देने से पहले Customer का Credit Score/Credit Report क्यों check किया जाता हैं ? 


ग्राहक का क्रेडिट स्कोर/क्रेडिट रिपोर्ट देखने के बाद बैंक या वित्तीय संस्था को इस बात का पता चल जाता हैं कि ग्राहक को लोन देने में कितना रिस्क हैं। क्रेडिट स्कोर रिपोर्ट में ग्राहक के क्रेडिट स्कोर के साथ - साथ उसके पिछले लोन और क्रेडिट कार्ड के सभी डिटेल्स होते हैं। 

अगर कोई ग्राहक तय समय पर ईएमआई चुकाता हैं,समय पर ऋण भुगतान करता हैं तो बैंक कि नजर में उसे ऐसे ग्राहक के रूप में देखा जायेगा जो समय पर लोन भुगतान कर देता हैं। इस कारण उस ग्राहक को लोन देने में बैंक को किसी भी प्रकार की हिचकिचाहट नही होगी।

लेकिन दूसरी तरफ यदि कोई ग्राहक समय पर लोन नहीं चुकाता हैं उसका पिछला लोन भुगतान बाकी हैं,उसका क्रेडिट स्कोर कम हैं तो बैंक उसको लोन देने में आनाकानी करेगा। क्योंकि बैंक ऐसे किसी भी ग्राहक को लोन नहीं देगा जिसका Credit Score कम होगा। 

Credit Score/CIBIL Score Check कैसे करे ? फ्री में अपना क्रेडिट स्कोर चेक कैसे करते हैं ?


Credit Score Check करना बहुत आसान हैं। इसके लिए आप इस प्रक्रिया का पालन करे। 

सबसे पहले आप गूगल पर जाकर 'फ्री क्रेडिट स्कोर' टाइप करके सर्च करे। उसके बाद सर्च रिज़ल्ट में आपको बहुत सी फाईनेंशियल वेबसाइट दिखाई देगी। 

आप उनमें से किसी भी Financial Website पर जाए और अपना मोबाइल नंबर और पैन कार्ड नंबर देकर फ्री में क्रेडिट स्कोर चेक करे। 

इसके अलावा यदि आप पूरे साल की क्रेडिट रिपोर्ट डाउनलोड करना चाहते हैं तो Credit Bureau की  साइट पर जाकर आप Free Credit Report Download कर सकते हैं। 

इस कारण यदि आप किसी भी प्रकार का लोन लेने जा रहे हैं तो अपना क्रेडिट स्कोर चेक जरूर करे। जिससे आपको किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। 

Credit Score कितना होना चाहिए ? क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए ? 


अगर किसी व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर 750 से अधिक हैं तो उसे अच्छा क्रेडिट स्कोर कहा जायेगा। वैसे आपका क्रेडिट स्कोर जितना अधिक होगा आपको उतना ही फायदा होगा। 

क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ेगा ? इसका जबाव बहुत सरल हैं। आप बैंक या किसी भी वित्तीय संस्था से जो भी लोन,क्रेडिट कार्ड लेते हैं उसके कर्ज को समय पर पूरी तरह चुका देवें। 

क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि भी आपके स्कोर को कम करती हैं। क्रेडिट कार्ड में आपको खर्च करने की जो लिमिट मिलती हैं उससे कम ही खर्च करे। और जो राशि आपने खर्च की हैं उसकी किश्तें भी डेडलाइन से पहले ही चुका देवें। ऐसा करने से आपका क्रेडिट स्कोर बढ़ेगा। 

Credit Account जितना पुराना हो अच्छा हैं। कभी भी डिफ़ाल्ट न रहने दे। बैंक से लिए गये कर्ज का तय समय पर किया गया भुगतान आपने क्रेडिट स्कोर को बढ़ता हैं और देरी से किया गया भुगतान क्रेडिट स्कोर को कम करता हैं। 

Credit Score न होने पर क्या करे ? 


Credit Score के लिए आपकी क्रेडिट हिस्ट्री होना बहुत जरूरी हैं। इस कारण आप कोई भी क्रेडिट कार्ड या छोटा लोन लेकर उसकों तय समय में भुगतान करे। 

जैसे आप बैंक से क्रेडिट कार्ड लेकर उसका इस्तेमाल करके कोई सामान जैसे मोबाइल,लैपटाप आदि लेकर उसकी ईएमआई का तय समय में भुगतान करते रहे। ऐसा करने से आपके भी क्रेडिट हिस्ट्री शुरू हो जायेगी। 

अंत में हम आपको यह कहना चाहते हैं कि आजकल Loan लेने में क्रेडिट स्कोर का बहुत अधिक महत्व हैं। जिस ग्राहक का जितना अच्छा क्रेडिट स्कोर होता हैं उसको उतना ज्यादा सस्ता लोन मिलता हैं। लेकिन क्रेडिट स्कोर ज्यादा खराब हो जाए तो बैंक कर्जा नहीं देता हैं। इस कारण हम सभी को जो बैंक से लोन लेना चाहते हैं उनको अपना Credit Score बेहतर रखना चाहिए। 

मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को यह पोस्ट अच्छी लगी होगी। आप अपनी प्रतिक्रिया कमेंट के माध्यम से हम तक पहुँचा सकते हैं। 
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।