Comments

SDM Full Form in Hindi, एसडीएम क्या है, एसडीएम कैसे बने।

जैसा कि आप सभी जानते ही है कि हम सभी को कभी न कभी किसी ना किसी सरकारी कार्य के लिये अपने क्षेत्र के SDM Officer के पास जाना पड़ता है। एसडीएम एक प्रशासनिक अधिकारी होता है, जिसके नियंत्रण में उपखंड या कोई तहसील क्षेत्र आता हैं। लेकिन अधिकांश लोगो को एसडीएम क्या होता हैं, एसडीएम की फुल फॉर्म क्या है जैसे सवालों का जबाव मालूम नहीं होता हैं। 

इस कारण आज हम इस ब्लॉग पोस्ट में SDM के बारे में पूरी जानकारी दे रहे है जिससे आपको SDM Full Form in Hindi के साथ ही एसडीएम कैसे बनते हैं, एसडीएम कैसे कार्य करता हैं, इन सभी सवालों का जबाव मिल जायेगा। 

sdm-full-form-in-hindi

SDM Full Form in Hindi (एसडीएम का फुल फॉर्म क्या होता है)


SDM का Full Form इंग्लिश में "Sub Divisional Magistrate" होता हैं। एसडीएम को हिन्दी में “उप प्रभागीय न्यायधीश” कहा जाता है। यह एक उच्च रैंक का सरकारी अधिकारी होता है। एसडीएम का पद राज्य प्रशासनिक सेवा में सबसे उच्च होता है। 

SDM Kya Hota hai (SDM Hindi Meaning)


SDM एक हाई रैंक अधिकारी होता है, जिसके नियंत्रण में जिले के कई उपखंड या अन्य कोई तहसील क्षेत्र होता है। जिस कारण से एसडीएम का तहसीलदारों व दूसरे कई और अधिकारियों पर भी सीधा नियंत्रण होता है। 

एसडीएम (उप प्रभागीय न्यायधीश) द्वारा ही कई महत्वपूर्ण कार्य जैसे - विभिन्न प्रकार के पंजीकरण करना व लाइसेंस जारी करना, लोकसभा और विधानसभा के सदस्यो के चुनाव सम्बन्धी कार्य करवाना, ओबीसी,एससी/एसटी के प्रमाण पत्र जारी करना, सार्वजनिक भूमि का संरक्षण, सामाजिक शांति व सुरक्षा तथा कई अन्य न्यायिक कार्य करना हैं। 

इन सब के अलावा भी एसडीएम के पास कई अन्य अधिकार भी होते है । उपखंड की भूमि का लेखा -जोखा भी एसडीएम की देखरेख में होता है। अब आप यह जान चुके होगे कि एसडीएम क्या होता हैं, एसडीएम फुल फॉर्म इन हिन्दी क्या हैं। तो आइये अब हम बात करते है कि SDM कैसे बने ?

एसडीएम कैसे बने? (How to Become a SDM)


जैसा कि आप सभी जानते है कि एसडीएम की पोस्ट बहुत पावरफुल होने के साथ ही काफी ज़िम्मेदारी भरी भी होती है। हर साल लाखों स्टूडेंट्स एसडीएम बनने के लिए परीक्षा देते है, बहुत ज़्यादा मेहनत भी करते है। 

Sub Divisional Magistrate बनने के लिये किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए तभी हम इस परीक्षा में बैठ सकते है । इस परीक्षा को देने के लिये न्यूनतम आयु 21 वर्ष निर्धारित की गयी है। किसी भी फील्ड का स्टूडेंट चाहे वह आर्ट्स, कॉमर्स या साइन्स से संबन्धित हो वों State PCS Exam में बैठ सकता है । 

SDM बनने के लिये हमे हमारी स्टेट द्वारा आयोजित PCS Exam (Public Service Commision) में शामिल होना पड़ता है जिसके तीन चरण है –
  • प्रारम्भिक परीक्षा । 
  • मुख्य परीक्षा । 
  • इंटरव्यू । 
एसडीएम बनने के लिए हमे चरणबद्ध तरीके से इस परीक्षा को पास करना पड़ता है तब जाकर हम एसडीएम बन सकते है। इस परीक्षा में टॉप रैंक में आने पर ही हमे एसडीएम की पोस्ट मिलती है । इसके अलावा UPSC की परीक्षा देकर भी हम एसडीएम बन सकते है।

अब आपकों यह जानकारी मिल गयी है कि हम State Pcs व Upsc Exam पास करके ही SDM बन सकते है। आइये आगे हम यह चर्चा करते है कि SDM को मिलने वाली सरकारी सुविधाये व लाभ कौन -कौनसे है।

SDM को मिलने वाली सुविधाये व लाभ 


एसडीएम एक हाई रैंक व शक्तिशाली सरकारी पद है जिसमे अच्छी ख़ासी सैलरी 50,000 रूपये से लेकर 1,00,000 रूपये तक होती है। इसके अलावा अन्य कई सरकारी लाभ भी है जों उसे सेवा में रहते हुये कुछ समय बाद मिलते है। 

एसडीएम बनने के लिये बहुत मेहनत की अवश्यकता होती है क्योकि इसके लिये state pcs द्वारा आयोजित होने वाली सबसे मुश्किल परीक्षा को पास करना होता है। यह पद भारतीय प्रशासनिक सेवा में चयनित होने वाले सबसे योग्य उम्मीदवार को ही मिलता है। 

हम आशा करते है कि आपकों SDM Full Form In Hindi टॉपिक पर आधारित यह ब्लॉग पोस्ट अच्छी लगी होगी। इसके साथ ही SDM ki Full Form kya hai, SDM Kya Hota hai, एसडीएम कैसे बने जैसे सभी सवालों के जबाव मिल गए होंगे। पाठकों, अगर आपकों हमारी यह पोस्ट पसंद आई है तो इसे इस पोस्ट को आगे अपने मित्रों के साथ सोश्ल मीडिया पर शेयर जरुर करे। 

Share This Post :-


No comments:

Post a Comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।