सीजीपीए क्या है ? CGPA Full Form क्या है ?

 केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा सीबीएसई कक्षा 10वीं और 12वीं के घोषित परीक्षा परिणाम में छात्रों को जो रिपोर्ट कार्ड दिया जाता हैं उसमें छात्र के द्वारा परीक्षा में किये गये प्रदर्शन के आधार पर उसे 1 से लेकर 10 के बीच CGPA दिये जाते है। लेकिन CGPA क्या हैं ? इसके बारे में बहुत कम लोगो को सही जानकारी हासिल है। 

यदि आप सीजीपीए के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढे। इस पोस्ट में हम आपको  'ग्रेडिंग प्रणाली में सीजीपीए क्या हैं ? CGPA की Full Form क्या होती हैं ? CGPA का निर्धारण कैसे किया जाता हैं ? स्टूडेंट के द्वारा प्राप्त CGPA को Percentage में कैसे बदले ?' से जुड़े सभी सवालो के जबाव देंगे। 

cgpa-kya-hai-cgpa-ki-full-form-kya-hoti-hai

सीजीपीए का फुल फॉर्म क्या हैं ? Full Form Of CGPA in Hindi ?

CGPA का Full Form होता हैं,Cumulative Grade Points Average.

CGPA को हिन्दी में 'संचयी ग्रेड अंक औसत' कहते हैं। 

विद्यालयों में विद्यार्थियों की प्रगति का मापन करने के लिये विभिन्न प्रकार की तकनीकों का इस्तेमाल होता हैं। भारतीय विद्यालयों में प्रमुख रूप से अंक प्रणाली और ग्रेड प्रणाली का इस्तेमाल किया जाता हैं।  

CGPA क्या हैं ?

अंक प्रणाली में स्टूडेंट को एक विषय में से 0 से 100 के बीच अंक दिये जाते हैं और इस प्रकार सभी विषयों में से प्राप्त अंको का एक औसत निकालकर Percentage % ( प्रतिशत ) के रूप में परीक्षा परिणाम निकाल दिया जाता हैं। 

लेकिन ग्रेड प्रणाली इससे बहुत अलग हैं। Grade System में विद्यार्थी को एक विषय में अंकों के साथ पर ग्रेड पॉइंट दिये जाते हैं और सभी विषयों में प्राप्त ग्रेड पॉइंट के औसत के आधार पर उसे एक Grade Category देकर परीक्षा परिणाम घोषित किया जाता हैं। 

CGPA की फुल फॉर्म Cumulative Grade Points Average हैं जिसे हिन्दी में 'संचयी ग्रेड अंक औसत' के रूप में जाना जाता हैं। सीजीपीए 6 वीं अतिरिक्त विषय को छोड़कर सभी विषयों में एक छात्र द्वारा प्राप्त ग्रेड अंक का औसत है। 

किसी स्टूडेंट द्वारा  6वें अतिरिक्त विषय को छोड़कर बाकी बचे पाँच विषयों में प्राप्त Grade Points का औसत निकालकर CGPA निकाला जाता हैं। सीबीएसई ( केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ) भी कक्षा 10 और 12 के परीक्षा परिणाम CGPA के रूप में घोषित करता हैं। छात्रों को परीक्षा परिणाम के रूप में जो रिपोर्ट कार्ड दिया जाता हैं उसमें सीजीपीए का उल्लेख होता हैं। 

सरल शब्दों में कहे तो 'Grading System में किसी छात्र द्वारा सभी विषयों में प्राप्त Grade Points का Average ही CGPA' होता हैं। 

सीजीपीए का निर्धारण कैसे होता हैं ? How to Calculate CGPA in Hindi

किसी स्टूडेंट के द्वारा सभी विषयों में प्राप्त किये गये Grade Points का औसत निकालकर उसका सीजीपीए निर्धारण किया जा सकता हैं। 

मान लीजिये की किसी छात्र ने पाँच विषयों में से निम्न प्रकार से Grade Points हासिल किये। 

कुल Grade Points = 41

कुल Subjects की संख्या = 5

CGPA का निर्धारण = कुल ग्रेड पॉइंट्स में कुल विषयों की संख्या का भाग देने पर CGPA प्राप्त होगा। 

CGPA = 41/5

CGPA = 8.2

Subject

 Grade Points

Hindi

8

Science

9

Maths

9

English

6

Social Science

9

Total

41

CGPA

41/5 = 8.2


सीजीपीए को प्रतिशत में कैसे बदले ? How to convert CGPA into percentage?

सीजीपीए को प्रतिशत में बदलने के लिये किसी स्टूडेंट द्वारा हासिल किये गये CGPA को 9.5 से गुणा कर दे। 

जैसे मान लीजिये कि किसी स्टूडेंट ने 8.2 CGPA हासिल किये हैं तो उसके Percentage निकालने के लिये 8.2 को 9.5 से गुणा करे। 

CGPA TO Percentage = CGPA×9.5

                Percentage = 8.2×9.5

                Percentage = 77.9 %

इस प्रकार ऊपर बताये गये फॉर्मूला का इस्तेमाल करके कोई भी स्टूडेंट अपने प्राप्त CGPA को प्रतिशत में बदल सकता हैं। 

सीजीपीए के गुण और दोष [ Merits and Demerits Of CGPA in Hindi ] 

CGPA के गुण - 

सीजीपीए से छात्र किस विषय में अच्छा है और किस विषय में कमजोर हैं इसका स्वंय आंकलन कर सकता हैं। 

सीजीपीए छात्रों पर उच्च अंक प्राप्त करने के दबाव को कम करता है क्योंकि रिपोर्ट कार्ड में किसी विषय में स्टूडेंट् द्वारा प्राप्त वास्तविक अंकों का उल्लेख न करके केवल Grade Point दिये गये होते हैं। 

CGPA के दोष - 

सीजीपीए के द्वारा छात्रों के सही प्रदर्शन का पता नहीं चल पता हैं। CGPA छात्रों के सटीक प्रदर्शन को प्रदर्शित नहीं करता है।

ग्रेडिंग प्रणाली के कारण, बच्चे कम प्रदर्शन करते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि वे कुछ गलतियाँ करके भी लक्षित ग्रेड हासिल करेंगे।

छात्रों का सटीक प्रदर्शन दिखाने में ग्रेडिंग सिस्टम विफल रहता है। हम केवल छात्रों की वास्तविक क्षमता के बजाय छात्रों द्वारा प्राप्त ग्रेड के बारे में जान सकते हैं।

किसी विषय में छात्र की वास्तविक योग्यता कितनी हैं इसका ज्ञान सीजीपीए के द्वारा नहीं निकाला जा सकता हैं। 

मैं उम्मीद करता हूँ कि "CGPA क्या हैं ? सीजीपीए की फुल फॉर्म क्या होती हैं ?" टॉपिक पर यह जानकारी आपके लिये उपयोगी साबित रही होगी। इस पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर शेयर जरूर करे। किसी भी प्रकार का सवाल पूछने या सलाह देने के लिये कमेंट जरूर करे। 

--
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।