सीबीएसई ( CBSE ) क्या है? CBSE Full Form in Hindi

कहीं न कहीं CBSE का नाम तो आपने जरूर सुना होगा। सीबीएसई के द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली परीक्षायों में हर साल लाखों की संख्या में विद्यार्थी हिस्सा लेते है। इस कारण सीबीएसई का नाम अखबारों और टीवी, आदि में देखने,सुनने को मिल ही जाता है। 

लेकिन यदि आप सीबीएसई के बारे में नहीं जानते है और CBSE क्या है ? टॉपिक के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है,तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढे। इस पोस्ट में मैंने CBSE के बारे में पूरी जानकारी हिन्दी में शेयर की है। 

cbse-kya-hai-full-form-of-cbse-in-hindi

सीबीएसई क्या है ? What is CBSE ? Full Form Of CBSE in Hindi

सीबीएसई एक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड है। सीबीएसई की फुल फॉर्म हिन्दी में 'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड' है। CBSE की Full Form है,Central Board of Secondary Education.

'दिल्ली बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन' को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के साथ मिला दिया गया और इस प्रकार दिल्ली बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त सभी शैक्षणिक संस्थान भी CBSE का हिस्सा बन गए। इसके अलावा सभी केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़,अंडमान और निकोबार द्वीप,अरुणाचल प्रदेश,सिक्किम राज्य और अब झारखंड,उत्तरांचल और छत्तीसगढ़ राज्य के बहुत से विद्यालयों को भी सीबीएसई बोर्ड से मान्यता मिली हुई है। 

सीबीएसई बोर्ड के द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार दिनांक 01-05-2019 तक भारत में 21271 स्कूल और 25 विदेशी देशों में 228 स्कूल CBSE Board से संबद्धता प्राप्त है। इनमें 1138 केन्द्रीय विद्यालय,3011 सरकारी / सहायता प्राप्त स्कूल,16741 स्वतंत्र स्कूल,595 जवाहर नवोदय विद्यालय और 14 केंद्रीय तिब्बती स्कूल शामिल है। 

भारत के अलग - अलग राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के संबद्धता प्राप्त विद्यालयों से जुड़े सभी प्रकार कार्य को निष्पादित करने के लिए सीबीएसई बोर्ड द्वारा देश में इलाहाबाद,अजमेर,भुवनेश्वर,चेन्नई,देहरादून,दिल्ली,गुवाहाटी,पंचकुला,पटना और त्रिवेंद्रम में क्षेत्रीय कार्यालय की स्थापना की गयी है। भारत के बाहर स्थित स्कूलों की देखभाल क्षेत्रीय कार्यालय दिल्ली द्वारा की जाती है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाएं [ Examinations conducted by Central Board of Secondary Education (CBSE) ]

सीबीएसई क्या है ? इसके बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद सीबीएसई द्वारा कौन-कौन सी परीक्षाएँ आयोजित करवाई जाती है,इसके बारे में भी जानना बहुत जरूरी है। 

सीबीएसई का मुख्य कार्य दसवीं और बारहवीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाओं को निर्धारित और आयोजित करना ( Exam Pattern,Syllabus,Examination )तथा सार्वजनिक परीक्षा आयोजित करना है। इसके अलावा बोर्ड संबद्ध स्कूलों के सफल उम्मीदवारों को योग्यता प्रमाण पत्र प्रदान करता है। 

CBSE बोर्ड प्रत्येक वर्ष निम्नलिखित परीक्षाओं का आयोजन करता जो निर्धारित अवधि से शुरू होती है :-

(i) मार्च के पहले सप्ताह में 'अखिल भारतीय / दिल्ली स्कूल प्रमाणपत्र परीक्षा' (बारहवीं कक्षा)

(ii) मार्च के पहले सप्ताह में 'अखिल भारतीय / दिल्ली माध्यमिक विद्यालय परीक्षा' (दसवीं कक्षा)

(iii) जुलाई के अंतिम सप्ताह या अगस्त के प्रथम सप्ताह में 12th और 10th Class के Comparment Exams का आयोजन करवाना

(iv) अप्रैल के अंतिम सप्ताह में All India Pre Medical Pre Dental Entrance [ AIPMT ] परीक्षा का आयोजन करना

(v) अखिल भारतीय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा (AIEEE) का आयोजन भी सीबीएसई के द्वारा मई महीने में होता है। जिसे अब Joint Entrance Examination ( JEE Main ) के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा All India Pharmacy/Architecture Entrance Examination का आयोजन भी सीबीएसई बोर्ड द्वारा किया जाता है। 

इसके अलावा यदि सीबीएसई को अन्य प्रकार की परीक्षाएँ आयोजित करने के लिये चुना जाता है तो बोर्ड वह परीक्षाएं भी आयोजित कर सकता है। 

CBSE Board की स्थापना कैसे व कब हुई ?

सीबीएसई बोर्ड की स्थापना का अपना एक इतिहास है। आइये इसके इतिहास पर नजर डालते है। 

सन 1921 में 'यूपी हाई स्कूल और इंटरमीडिएट शिक्षा बोर्ड" की स्थापना हुई। इस बोर्ड का अधिकार क्षेत्र राजपुताना,मध्य भारत और ग्वालियर था। लेकिन इसके बाद सन 1929 में भारत सरकार द्वारा एक संयुक्त बोर्ड स्थापित करने का निर्णय लिया गया। जिसके परिणामस्वरूप 'बोर्ड ऑफ हाई स्कूल एंड इंटरमीडिएट एजुकेशन, राजपूताना' की स्थापना की गयी थी। इस बोर्ड के क्षेत्र में अजमेर, मेरवाड़ा, मध्य भारत और ग्वालियर शामिल थे।

लेकिन फिर 1952 में बोर्ड के संविधान में संशोधन किया गया था जिसके परिणामस्वरूप बोर्ड को इसका वर्तमान नाम 'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड' दिया गया था। वर्ष 1962 में आखिरकार बोर्ड का पुनर्गठन किया गया था। 

वर्तमान में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का क्षेत्राधिकार व्यापक है और राष्ट्रीय भौगोलिक सीमाओं से परे है। पुनर्गठन के परिणामस्वरूप,पूर्ववर्ती 'दिल्ली बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन' को केंद्रीय बोर्ड के साथ मिला दिया गया और इस प्रकार दिल्ली बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त सभी शैक्षणिक संस्थान भी केंद्रीय बोर्ड का हिस्सा बन गए है। 

Central Board of Secondary Education से जुड़ी अधिक जानकारी के लिये आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करे। आधिकारिक साइट पर जाने के लिये क्लिक करे :-

मुझे उम्मीद है कि इस पोस्ट में आपको "CBSE क्या है ? CBSE Full Form in Hindi [ केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाएं ]" टॉपिक पर पूरी जानकारी हासिल हुई होगी। यदि यह लेख आपके लिये उपयोगी साबित हुया है तो इसे सोश्ल मीडिया पर शेयर जरूरु करे।  

--
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।