CID का Full Form, सीआईडी क्या हैं ?

--

आपने सीआईडी नाम का टीवी धारावाहिक तो जरूर देखा होगा जिसमें CID टीम विभिन्न प्रकार के आपराधिक मामलों की जाँच बड़े ही रोचक तरीके से करती हैं। लेकिन क्या आपने कभी गौर किया हैं कि, CID का Full Form क्या होता हैं, CID कैसे काम करती हैं, सीआईडी हकीकत में होती भी हैं या नहीं ?

तो यदि आप भी  'CID Ka Full Form' जानना चाहते हैं तो इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा जरूर पढे। इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको हिन्दी और इंग्लिश में सीआईडी की फुल फॉर्म बताने के साथ ही यह भी जानकारी देंगे कि, पुलिस विभाग में CID का गठन कब और क्यों किया गया था। 

cid-ka-full-form-kya-hota-hai

CID Ka Full Form ( सीआईडी का फुल फॉर्म हिन्दी और इंग्लिश में ) Full Form Of CID in Hindi

CID का Full Form "Criminal Investigation Department" होता हैं। Criminal Investigation Department को हिन्दी में 'आपराधिक जांच विभाग' कहा जाता हैं। 

इस प्रकार सीआईडी का फुल फॉर्म इंग्लिश में 'क्रिमिनल इन्वैस्टिगेशन डिपार्टमेंट' होता हैं। सीआईडी को हिन्दी में 'आपराधिक जांच विभाग' भी कहा जाता हैं। यह पुलिस विभाग का ही एक हिस्सा होता हैं, जो कुछ विशेष आपराधिक मामलों की जांच करता हैं। 

सीआईडी ( Criminal Investigation Department ) क्या हैं ? 

CID भारत की राज्य पुलिस सेवाओं की एक शाखा हैं। जैसा की हम सभी जानते है कि, भारत में हर राज्य का खुद का एक पुलिस विभाग होता हैं, जैसे राजस्थान पुलिस, पंजाब पुलिस आदि। इस पुलिस विभाग में ही कुछ विशेष गंभीर आपराधिक मामलों की जाँच करने के लिये अलग से एक विभाग होता हैं, जिसे Criminal Investigation Department ( आपराधिक जांच विभाग ) कहते हैं इसे ही शॉर्ट में CID ( सीआईडी ) कहा जाता हैं। 

हर राज्य में CID होती हैं जो उस राज्य के पुलिस विभाग के अंतर्गत कार्य करती हैं। CID को विशेष आपराधिक मामलों की जाँच सौंपी जाती हैं। सीआईडी को भी आगे कुछ शाखाओं में विभाजित किया गया हैं जो निम्न प्रकार हैं :- 

  • Special Branch CID 
  • Crime Branch CID 

सीआईडी की स्पेशल ब्रांच में जासूस, कॉन्स्टेबल्स, हेड कॉन्स्टेबल्स और इंस्पेक्टर रैंक के पुलिस अधिकारी होते हैं, जो कानून और व्यवस्था के मामलों के साथ-साथ अवैध गतिविधियों के मामलों की जाँच करती हैं। 

वहीं दूसरी तरफ सीआईडी की क्राइम ब्रांच ( CB-CID ) अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADGP) की अगुवाई वाली CID में एक विशेष विंग है और जिसे सहायक पुलिस महानिरीक्षक (IGP) द्वारा सहायता प्रदान की जाती है। यह क्राइम ब्रांच राज्य सरकार या उच्च न्यायालय द्वारा सीबी-सीआईडी को सौंपे गए हत्या, दंगा, जालसाजी सहित गंभीर अपराधों की जांच करती है। CB-CID का Full Form 'Crime Branch - Criminal Investigation Department' हैं। 

सीआईडी ( क्रिमिनल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट ) में किस रैंक के पुलिस अधिकारी होते हैं ? 

सीआईडी का नेतृत्व DGP/IGP रैंक का पुलिस आधिकारी करता हैं, इसमें DIG, SP, इंस्पेक्टर, एसआई, हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल, फिंगरप्रिंट्स के विशेषज्ञ, फोटोग्राफी, कंप्यूटर पेशेवर और अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल होते हैं।

CID का गठन कब किया गया था ? 

सीआईडी क्या है और कैसे काम करती हैं, इसे समझने के बाद आइये इसके इतिहास पर नजर डालते हैं और जानते है कि, आखिर सीआईडी का गठन कब और क्यों किया गया था। 

सन 1902-03 में भारतीय पुलिस आयोग ने हर प्रांत में आपराधिक जांच विभाग (CID) के गठन की सिफारिश की और 21 मार्च 1905 को भारत सरकार ने भारतीय पुलिस आयोग के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया और ब्रिटिश सरकार ने 1907 तक हर प्रांत में सीआईडी विभाग शुरू करने के निर्देश जारी किए। इस प्रकार ब्रिटिश सरकार के समय से ही संगठित अपराध के बारे में जानकारी एकत्र करने और वितरित करने के लिए एक डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल के तहत प्रत्येक जिले में एक आपराधिक जांच विभाग (CID) का गठन किया जाता है। 

CID Full Form is Criminal Investigation Department.

आप कमेंट करके जरूर बताये कि, 'CID का Full Form' टॉपिक पर आधारित यह ब्लॉग पोस्ट आपके लिये उपयोगी सिद्ध हुयी है या नहीं। इस पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर भी जरूर शेयर करे। 

-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।