DRDO का फुल फॉर्म ,डीआरडीओ क्या हैं ?

डीआरडीओ के बारे में आपने किसी अखबार या न्यूज़ चैनल पर जरूर पढ़ा और सुना होगा। लेकिन DRDO क्या हैं और डीआरडीओ की हिन्दी और इंग्लिश में फुल फॉर्म क्या हैं ? इसके बारे में जानकारी बहुत कम लोगों हो हैं। इसी कारण आज की इस पोस्ट में हम "DRDO" टॉपिक पर जानकारी पब्लिश कर रहे हैं ?

यदि आप भी डीआरडीओ के बारे में जानना चाहते हैं और डीआरडीओ के संगठन और कार्य के बारे में जानकारी चाहते हैं तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढे। तो आइये आज की इस पोस्ट की शुरुवात करते हैं।
drdo-kya-hai-drdo-ka-full-form-hindi-mei

डीआरडीओ का फुल फॉर्म क्या होता हैं ? Full Form Of DRDO in Hindi And English


डीआरडीओ का हिन्दी में फुल फॉर्म रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन हैं। DRDO का Full Form इंग्लिश में Defence Research And Development Organisation होता हैं। यह भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय का ही एक संगठन हैं। 

डीआरडीओ का कार्य भारत की सुरक्षा को बेहतर करने के लिए नये - नये अनुसंधान करना और आधुनिक हथियारों का विकास करना हैं। इस कारण ही इसे रक्षा मंत्रालय का Research और Development संगठन कहा जाता हैं। डीआरडीओ भारत की थल,जल और वायु सेना की जरूरतों के हिसाब से उनको बेहतर से बेहतर रक्षा उपकरण और हथियार निर्मित करने का कार्य करता हैं।

DRDO क्या हैं ? डीआरडीओ का इतिहास क्या हैं ? डीआरडीओ की स्थापना कब की गयी थी ?


डीआरडीओ एक ऐसा संगठन है जो भारत की तीनों प्रकार की सेना को आधुनिक और बेहतर तकनीक से युक्त उपकरण जैसे हल्के लड़ाकू विमान,तेजस,मल्टी बैरल रॉकेट लांचर, पिनाका,वायु रक्षा प्रणाली,आकाश  रडार और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध प्रणाली से जुड़े उपकरण बनाकर देता हैं।

इस संगठन का एक ही उद्देश्य हैं कि,भारत में ही ऐसे आधुनिक तकनीक युक्त स्वदेशी रक्षा उपकरण बनाये जाये जिससे भारत का रक्षा विभाग विदेशों पर रक्षा उपकरणों को लेकर निर्भर न रहे।

DRDO का गठन 1958 में भारतीय सेना की पहले से चल रही Technical Development Establishment (TDEs) इकाई और Directorate of Technical Development And Production इकाई तथा Defence Science Organisation (DSO) इकाई का एकीकरण करके किया गया था।

पहले डीआरडीओ संगठन एक छोटे से संगठन के रूप में 10 से अधिक इकाई के रूप में काम कर रहा था। लेकिन समय के साथ DRDO ने प्रयोगशालाओं की संख्या और रिसर्च में बढ़ोतरी की जिससे इस संगठन के कुछ ऐसे रक्षा उपकरणों का निर्माण किया जो सेना के लिए बहुत फायदेमंद साबित हुये थे। आज यह एक बहुत बड़े संगठन के रूप में काम कर रहा हैं।

यदि वर्तमान की बात की जाये तो DRDO का 50 से अधिक प्रयोगशालाओं का एक विशाल नेटवर्क है, जो विभिन्न विषयों को कवर करने वाली रक्षा प्रौद्योगिकियों को विकसित करने में लगे हुए हैं, जैसे कि वैमानिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स,लड़ाकू वाहन,इंजीनियरिंग सिस्टम,इंस्ट्रूमेंटेशन,मिसाइल,उन्नत कंप्यूटिंग और सिमुलेशन, विशेष सामग्री,नौसेना प्रणाली।

DRDO में जॉइन कैसे करे ? क्या हम डीआरडीओ संगठन में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं ?


डीआरडीओ संगठन में आप Scientists,Technical Staf,fAdmin & Allied और Research Fellow के रूप में Career बना सकते हैं।

डीआरडीओ में एक Recruitment and Assessment Centre (RAC) नाम का एक केंद्र हैं जो  ग्रुप ए क्लास के वैज्ञानिकों की भर्ती करता हैं। इसके अलावा एक CEPTAM विभाग हैं जो ग्रुप बी और ग्रुप सी सदस्यों की भर्ती करता हैं।

डीआरडीओ में जेआरएफ / एसआरएफ / आरए / अपरेंटिस आदि के लिए आवेदन करने के लिए डीआरडीओ की प्रयोगशालाओं द्वारा समय - समय पर खाली पदों के लिए नोटिफ़िकेशन जारी किए जाते हैं। DRDO Lab में requirement के हिसाब से ही उम्मीदवारों का चयन होता हैं।

डीआरडीओ संगठन के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जरूर जाये। आधिकारिक वैबसाइट पर आपको इसके बारे में और भी अधिक जानकारी मिलेगी। आधिकारिक वैबसाइट का लिंक हैं -


हम उम्मीद करते हैं कि,DRDO क्या होता हैं,DRDO Full Form in Hindi And English टॉपिक पर आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। इस पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर शेयर करके आप यह जानकारी हजारों लोगों तक पहुंचाकर हमारे ब्लॉग को सहयोग प्रदान कर सकते हैं।
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।