Hindi Letter Format,Letter in Hindi [ हिन्दी पत्र लेखन ]

आजकल इंटरनेट के बढ़ते प्रयोग के कारण किसी भी प्रकार की सूचना या जानकारी का एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक आदान प्रदान करने के लिए ईमेल,सोश्ल मीडिया प्लैटफ़ार्म,चैट्स,एसएमएस आदि का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन सोश्ल मीडिया का युग होने के बावजूद भी पत्रों का विशेष महत्व है। 

पत्रों के द्वारा हम अपनी बात विस्तारपूर्वक,प्रभावी तरीके से व्यक्त कर सकते है। इसके अलावा किसी सरकारी अधिकारी तक अपनी बात पहुँचाने,नौकरी के लिए आवेदन करने,शिकायत करने,प्रार्थना करने के लिए पत्र सबसे बेहतर विकल्प है। इस कारण सोश्ल मीडिया का प्रभाव होने के कारण भी वर्तमान में Hindi Letter लिखने वालों की मांग है। 

प्राप्तकर्ता पर पत्र का विशेष प्रभाव पड़ता है। इस कारण हमेशा पत्र को बेहतर ढंग से लिखा जाना चाहिए। इस पोस्ट में हम "Letter in Hindi" टॉपिक पर पूरी जानकारी शेयर कर रहे है। पत्र क्या होता है ? पत्र के कितने प्रकार होते है ? एक प्रभावी पत्र कैसे लिखा जाता है ? Hindi Letter Format कैसा होता है ? आदि सवालों के जबाव इस पोस्ट में विस्तारपूर्वक दिये गये है। 

hindi-letter-format-formal-informal-letter-in-hindi

पत्र क्या होता है ? Letter in Hindi Language 

एक लिखित या मुद्रित संदेश जो आप किसी को भेजते हैं,उसे पत्र कहते है। एक पत्र एक लिखित संदेश है जो एक व्यक्ति किसी माध्यम से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाता है। एक पत्र में व्यक्ति किसी सूचना,समाचार,जानकारी या भावों को किसी दूसरे व्यक्ति के साथ सांझा करता हैं। 

पत्र को इंग्लिश में 'Letter' भी कहा जाता है। उर्दू जुबान में पत्र को 'खत' भी कहा जाता है। पत्र लेखन एक कला है। पत्र लेखन कला में निपुण व्यक्ति एक साधारण व्यक्ति की अपेक्षा प्रभावी और बेहतर ढंग से पत्र लिख सकता है। 

हिन्दी पत्र कितने प्रकार के होते है ? Types Of Letter in Hindi

आवश्यकता और स्थिति के अनुसार पत्र कई प्रकार के होते हैं किन्तु आमतौर पर हिन्दी पत्र दो प्रकार के होते हैं। 

1. औपचारिक पत्र

2. अनौपचारिक पत्र

अनौपचारिक पत्र - Informal Letter को हिन्दी में अनौपचारिक पत्र कहा जाता हैं। इसे सामान्य भाषा में व्यक्तिगत एंव सामाजिक पत्र भी कहा जाता हैं। इस प्रकार के पत्र पारिवारिक सदस्यों,मित्रों,व्यक्तिगत संबंधों के आधार किसी भी व्यक्ति आदि को लिखे जा सकते हैं। अनौपचारिक पत्रों को लिखने के लिये कुछ खास नियमों का पालन नहीं करना पड़ता हैं। इस प्रकार के पत्रों का विषय आमतौर पर बधाई,धन्यवाद,निमंत्रण,कुशल-मंगल पूछना आदि होता हैं।

अनौपचारिक पत्र की पूरी जानकारी विस्तारपूर्वक पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक कीजिये : - 

औपचारिक पत्र - ऐसे पत्र जो सरकारी कार्यालयों तथा अधिकारियों को अथवा व्यावसायिक कार्यों को लेकर लिखे जाते है ,उन्हे Aupcharik patra कहते हैं । औपचारिक पत्र को इंग्लिश में Formal Letter कहते है। औपचारिक पत्र बहुत प्रकार के होते है जैसे - 

  • प्रार्थना पत्र 
  • शिकायती पत्र 
  • किसी अधिकारी को पत्र 
  • संपादक को पत्र 
  • पुस्तक विक्रेता को पत्र 
  • नौकरी के लिए आवेदन पत्र 
  • सार्वजनिक पत्र 

विद्यालय के प्रधानाचार्य को पत्र,नौकरी के लिए किसी अधिकारी या कार्यालय को आवेदन पत्र,पुलिस को शिकायती पत्र,नगरपालिका के अधिकारी को शिकायती पत्र,जलदाय विभाग को पत्र,किसी समाचार पत्र के संपादक को पत्र,बैंक अधिकारी को पत्र,किसी सरकारी विभाग को पत्र आदि पत्र फॉर्मल लेटर ( औपचारिक पत्र ) के ही उदाहरण है। 

औपचारिक पत्र की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए क्लिक कीजिये :-

Formal Hindi Letter Format - औपचारिक हिन्दी पत्र का प्रारूप 

इस पोस्ट में हम आपके साथ कुछ 'Sample formal Hindi Letter Format' का Example भी शेयर कर रहे हैं। इस पत्र के उदाहरण के द्वारा आप और बेहतर तरीके से सीख सकते हैं कि,एक औपचारिक हिन्दी पत्र कैसे लिखा जाता हैं।

समाचार पत्र के संपादक को नगर में हो रहे शोरगुल की शिकायत के संबंध में पत्र - Hindi Formal Letter To Newspaper's Editor

सेवा में ,

         श्रीमान संपादक महोदय 

         अमर उजाला,

         विकासभवन मार्ग,जयपुर 

          विषय - नगर में बढ़ते ध्वनि प्रदूषण के संबंध में । 

महोदय, 

         मैं आपके समाचार पत्र के द्वारा प्रशासन का ध्यान इस ओर करना चाहता हूँ कि आजकल परीक्षा के दिनों में भी हमारे नगर में रात-दिन लाउडस्पीकर बजते रहते है। आधी रात तक विभिन्न प्रकार के धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रमों के नाम पर लाउडस्पीकर का इस्तेमाल दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। 

       विभिन्न प्रकार के विज्ञापनों का प्रसार-प्रचार करने वाले वाहनों से भी शोर-गुल बढ़ रहा है जिससे ध्वनि प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है। बढ़ते शोरगुल के कारण विद्यार्थियों को सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

      हमें आशा है कि स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी इस समस्या की ओर ध्यान देकर ध्वनि-प्रदूषण करने वालों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही करेंगे। 

दिनांक 16-11-2020 

                            निवेदक,

                           रामलाल कुमार 

Informal Hindi Letter Format - अनौपचारिक हिन्दी पत्र का प्रारूप 

नीचे दिये गये Sample Informal Hindi Letter Format के Example को देखकर आप बढ़िया फॉरमैट में इंफोरमल हिन्दी लेटर लिखना सीख सकते है। 

जन्मदिन के मौके पर अंकल से मिले उपहार के संबंध में अंकल को धन्यवाद देने के लिए एक पत्र का प्रारूप - मकान संख्या 223,

वसंत नगर,ए ब्लॉक

एफ़सीआई कालोनी,बीकानेर

चरणस्पर्श अंकल जी,

मैं कुशल मंगल हूँ और उम्मीद करता हूँ कि,आप और आपका परिवार भी कुशल मंगल होंगे। आंटी जी को मेरी तरफ से प्रणाम और भाई बंटी और बहिन सुमन को प्यार। अंकल जी,आपने हमेशा हमारे परिवार का सुख और दुख भरी सभी परिस्थितियों में साथ दिया हैं। इसके लिये मैं आपका हमेशा शुक्रगुजार रहूँगा। बीते सप्ताह मेरे जन्मदिन के मौके पर आपने जो उपहार मुझे दिया था वह मुझे बहुत अच्छा लगा। जन्मदिन की पार्टी में मुझे जो भी उपहार मिले हैं,उन सब में आपका दिया गया उपहार मेरे लिये सबसे कीमती और उपयोगी साबित हुया है।

आपने उपहार के रूप में मुझे जो किताबें दी हैं,उनको पढ़कर मुझे बहुत अच्छा लगा। यह किताबें मेरे लिये एक मार्गदर्शक का कार्य करेंगीं। जब भी मुझे समय मिलता हैं,मैं इन किताबों को पढ़ता हूँ। जैसा की आपको पता हैं कि,मुझे किताबें पढ़ना अच्छा लगता हैं और जन्मदिन के मौके पर उपहार स्वरूप मिली यह किताबें मेरे लिये किसी खजाने से कम नहीं हैं।

मेरे जन्मदिन के मौके पर इतना अच्छा उपहार देने के लिये मैं आपका धन्यवाद अदा करता हूँ।

आपका प्यारा,

संजीव कुमार

आपको 'Letter in Hindi' टॉपिक पर आधारित यह पोस्ट कैसे लगी कमेंट बॉक्स में जरूर बताये। इसके अलावा यदि आप और अधिक संख्या में विभिन्न प्रकार के Hindi Letter Format Samples चाहते है तो कमेंट जरूर करे। यदि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित हुई है तो इस पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर अपने मित्रों के साथ शेयर जरूर करे। 

--
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।