CBSE और ICSE में मुख्य अंतर [ Difference Between CBSE and ICSE ]

CBSE और ICSE में मुख्य अंतर क्या है ? इसे समझना बहुत आसान है। लेकिन फिर भी इन दोनों शब्दों को लेकर बहुत से लोगों में भ्रम की स्थिति बनी रहती है। इस पोस्ट में मैंने "Difference Between CBSE and ICSE" टॉपिक को बहुत ही सरल शब्दों में समझाने की कोशिश की है। 

difference-between-cbse-and-icse-in-hindi

सीबीएसई और आईसीएसई में मुख्य अंतर कौन से है ? What are the main differences between CBSE and ICSE?

CBSE एक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड है,जिसे भारत सरकार द्वारा नियंत्रित और प्रबंधित किया जाता है। जबकि ICSE एक परीक्षा है जो हर साल CISCE बोर्ड के द्वारा Class 10th के Students के लिए आयोजित की जाती है। लेकिन 'CBSE और ICSE में Main Difference क्या है' इसे विस्तार से समझना बहुत जरूरी है। 

CBSE क्या है : - सीबीएसई एक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड है। सीबीएसई की फुल फॉर्म हिन्दी में 'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड' है। CBSE की Full Form है,Central Board of Secondary Education.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) भारत में सार्वजनिक और निजी स्कूलों के लिए राष्ट्रीय स्तर का शिक्षा बोर्ड है,जिसे भारत सरकार द्वारा नियंत्रित और प्रबंधित किया जाता है। भारत के केंद्रशासित प्रदेशों और राज्यों के कई विद्यालय सीबीएसई बोर्ड से  संबद्धता प्राप्त है। 

CBSE का मुख्य कार्य इससे मान्यता प्राप्त विद्यालयों की कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं निर्धारित और आयोजित करना है। सीबीएसई बोर्ड द्वारा हर वर्ष मार्च के पहले सप्ताह में कक्षा 10वीं के लिये Secondary School Examination (Class X) की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। जबकि 12वीं कक्षा के लिये Senior School Certificate Examination (Class XII) परीक्षा का आयोजन किया जाता है। 

इसे कुछ इस प्रकार से भी परिभाषित किया जा सकता है "सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त विद्यालयों में Class 10th में पढ़ने वाले Students सीबीएसई द्वारा आयोजित 'Secondary School Examination' परीक्षा में भाग लेते है जबकि Class 12th में पढ़ने वाले Students सीबीएसई द्वारा आयोजित 'Senior School Certificate Examination' देते है। 

ICSE क्या है : - जिस प्रकार CBSE Board के द्वारा कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए Exams आयोजित करवाये जाते है,ठीक उसी प्रकार CISCE Board के द्वारा कक्षा 10वीं की के लिए जो Exam आयोजित किया जाता है उसे Indian Certificate of Secondary Education Exams कहा जाता है। इसे ही छोटे रूप में ICSE Exam कहा जाता है। 

CISCE ( Council for the Indian School Certificate Examinations ) राष्ट्रीय स्तर का एक निजी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड है,जिससे हजारों की संख्या में विद्यालय मान्यता प्राप्त है। इस सभी विद्यालयों में पढ़ने वाले सभी विद्यार्थियों की परीक्षा सीआईएससीई बोर्ड के द्वारा आयोजित की जाती है। सीआईएससीई बोर्ड का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। 

CISCE बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के लिये दो  प्रकार की परीक्षा आयोजित करता है जो निम्न है :-

1.  Class 10th के Students के लिए ICSE Exam - Indian Certificate of Secondary Education Exam

2. Class 12th के Students के लिए ISC Exam - Indian School Certificate Examination 

इस कारण CBSE और ICSE को लेकर भ्रम की स्थिति में न रहे। इसे समझने की कोशिश करे। 

"CBSE एक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड है जिसके द्वारा कक्षा 10वीं और 12वीं के लिये Exams करवाये जाते है। जबकि ICSE एक EXAM है जो CISCE बोर्ड से मान्यता प्राप्त विद्यालयों की कक्षा 10वीं में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिये आयोजित करवाया जाता है।"

CBSE और ICSE क्या है ? टॉपिक से जुड़े सवालों के जबाव पाने के लिये आप यह दोनों पोस्ट जरूर पढे।

यदि आप "Difference between CBSE and ICSE" टॉपिक से जुड़ा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो आप कमेंट जरूर करे। आपके द्वारा किये गये हर एक कमेंट का जबाव दिया जायेगा। 

--
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।