लोकसभा के सदस्यों का चुनाव कैसे होता है ?

हम पिछली पोस्ट में 'राज्यसभा का चुनाव कैसे होता है ?' टॉपिक पर पूरी जानकारी प्राप्त कर चुके है। उसी दिशा में बढ़ते हुये इस पोस्ट में हम लोकसभा का चुनाव कैसे होता है ?,आखिर लोकसभा के सदस्य कैसे चुने जाते है ? टॉपिक पर पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे।

लोकसभा को संसद का निम्न सदन और लोकप्रिय सदन भी कहा जाता है। यह भारतीय संसद का प्राथमिक सदन भी कहलाता है। भारत में चूंकि लोकसभा में बहुमत प्राप्त करने वाली राष्ट्रीय पार्टी को केंद्र सरकार बनाने का अवसर मिलता है,इस कारण भारत का हर एक नागरिक लोकसभा के चुनाव में रुचि लेता है।


हर एक भारतीय नागरिक लोकसभा के गठन के बारे में जानना चाहता है। इस कारण इस पोस्ट में हम बहुत सरल भाषा में भारत की लोकसभा के गठन की प्रक्रिया को समझाने की कोशिश कर रहे है। आइये आज की इस पोस्ट की शुरुवात करते है।

loksabha-ke-sadsyo-ka-chunav-kaise-hota-hai


लोकसभा के सदस्यों का चुनाव कैसे होते है ? लोकसभा इलैक्शन की पूरी जानकारी


लोकसभा की अधिकतम सदस्य संख्या 552 हो सकती है। इनमें से 530 सदस्य राज्यों से निर्वाचित होकर,20 सदस्य केंदशासित प्रदेशों से निर्वाचित होकर और 2 सदस्य मनोनीत हो सकते है।

वर्तमान में इसकी संख्या 545 होती है।

लोकसभा की सीटों का वितरण हर एक राज्य और केंद्रशासित प्रदेश की जनसंख्या के आधार पर होता है। हर राज्य और केंद्रशासित प्रदेश में 545 लोकसभा की सीटें विभाजित की गयी है।

लोकसभा की ये सीटे या निर्वाचन क्षेत्र कम से कम पाँच लाख की जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करते है। इसका मतलब है की किसी राज्य या केंद्रशासित प्रदेश में जिस क्षेत्र में भी लोकसभा की सीट होती है,उस क्षेत्र की कम से कम जनसंख्या पाँच लाख होती है।

इसी प्रकार एक राज्य/केंद्रशासित प्रदेश में बहुत से लोकसभा के निर्वाचन क्षेत्र होते है जिसे हम लोकसभा की सीट भी कहते है।


उत्तरप्रदेश में लोकसभा की 80 सीट है। मतलब की यूपी में लोकसभा के 80 निर्वाचन क्षेत्र है।

हर राज्य या केंद्रशासित प्रदेश की हर एक लोकसभा की सीट पर चुनाव करवाये जाते है । जिसमें उस लोकसभा के निर्वाचन क्षेत्र के 18 साल से अधिक उम्र के सभी मतदाता अपने मत का इस्तेमाल करते है। इस प्रकार लोकसभा के सदस्यों का चुनाव प्रत्यक्ष रूप से जनता द्वारा किया जाता है।

जिस भी उम्मीदवार को उस निर्वाचन क्षेत्र में बहुमत मिलता है वह उस सीट से जीतकर लोकसभा में उस निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है। वह लोकसभा का सदस्य बन जाता है।


इस प्रकार पूरे राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों के निर्वाचन क्षेत्र से बहुमत प्राप्त उम्मीदवार लोकसभा में उस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते है। इस प्रकार लोकसभा में सदस्य गठित होते है।

जब कोई उम्मीदवार अपने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से जीत जाता है तो उसे उस क्षेत्र का सांसद कहा जाता है। चूंकि लोकसभा भारतीय संसद का एक सदन है। इस कारण लोकसभा के सदस्यों को सांसद कहा जाता है।

संसद को इंग्लिश में parliament कहा जाता है और संसद के सदस्य जिसे हम सांसद कहते है को इंग्लिश में मेम्बर ऑफ पार्लियामेंट कहा जाता है।

लोकसभा के सभी सदस्यों में से किसी एक सदस्य को लोकसभा का अध्यक्ष ( Speaker ) और किसी एक सदस्य को लोकसभा का उपाध्यक्ष ( Deputy Speaker ) निर्वाचित किया जाता है।

वर्तमान में लोकसभा की 545 सीट है। अब जिस भी राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टी को लोकसभा में बहुमत प्राप्त होता है उसे केंद्र सरकार बनाने का अवसर प्राप्त होता है। अब वह राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टी सता पक्ष कहलाता है।

अब उस पार्टी के जीते हुये सभी सदस्य अपने में से किसी एक सदस्य को समर्थन देते है और उसे अपना नेता चुनते है। इस प्रकार चुना हुया सदन का नेता प्रधानमंत्री होता है।

प्रधानमंत्री लोकसभा के सदस्यों में से कुछ सदस्यों को चुनकर उनको अपनी मंत्रीपरिषद में शामिल करता है। वह सदस्य केंद्रीय मंत्री के रूप में पद ग्रहण करते है।

जिस राजनीतिक पार्टी को बहुमत प्राप्त नहीं हो पाता है,उसके सभी सदस्य अपने समूह में किसी एक सदस्य को अपना नेता चुनते है। वह विपक्ष पक्ष का नेता कहलाता है। लोकसभा में वह विपक्ष का प्रतिनिधित्व करता है।

लोकसभा का सदस्य बनने के लिये आवश्यक योग्यताएं 


लोकसभा का सदस्य बनने के लिये भारतीय संविधान के अनुसार आवश्यक योग्यताएं निम्न है -

  • वह व्यक्ति भारत का नागरिक हो। 
  • उसकी आयु 25 वर्ष या उससे अधिक हो। 
  • भारत सरकार अथवा किसी राज्य सरकार के अंतर्गत वह कोई लाभ का पद धारण न किये हुये हो
  • वह किसी न्यायालय द्वारा दिवालिया न ठहराया गया हो तथा पागल न हो। 

लोकसभा से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य,लोकसभा से जुड़े सवाल और उनके जबाव 


यदि आप स्टूडेंट्स है और प्रशासनिक सेवा में जाने के लिये प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो लोकसभा से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों और सभी सवालों और उनके जबावों की पूर्ण जानकारी के लिये लोकसभा की आधिकारिक वेबसाइट का ही इस्तेमाल करे।

लोकसभा की आधिकारिक वेबसाइट का यूआरएल है -


राज्यसभा की आधिकारिक हिन्दी वेबसाइट का यूआरएल है -
हम उम्मीद करते है कि 'लोकसभा के चुनाव की प्रक्रिया' पर यह पोस्ट पढ़कर आपको वांछित जानकारी  प्राप्त हो चुकी होगी। इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे। 
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।