लीप वर्ष व लीप दिन क्या होते है ? पूरी जानकारी हिन्दी में

आज की इस पोस्ट में हम लीप वर्ष के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है। जो लोग Leap Year के बारे में रोचक जानकारी प्राप्त करना चाहते है उनके लिए यह पोस्ट बहुत विशेष होने वाली है।

इसके अलावा आजकल प्रतियोगी परीक्षाओं में भी लीप ईयर से संबंधित बहुत से सवाल पूछे जाते है। इस कारण इस पोस्ट को पढ़कर स्टूडेंट्स भी लीप वर्ष टॉपिक  पर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leap-Year-Leap-Day-Information-in-Hindi


Leap Year ( लीप वर्ष ) व Leap Day ( लीप दिन ) क्या होता है ? लीप ईयर मीनिंग


सामान्य वर्ष में 365 दिन होते है। जिस साल में 365 दिन होते है उस साल के फरवरी के महीने में 28 दिन होते है।

लेकिन चार साल में एक बार Leap Year आता है। लीप वर्ष में 366 दिन होते है। लीप वर्ष में फरवरी के महीने में 29 दिन होते है। लीप वर्ष को अधिवर्ष भी कहा जाता है।

इस कारण जिस वर्ष एक साल में 366 दिन होते है उसे लीप इयर कहा जाता है। हर चार साल बाद एक Leap Year आता है। चूंकि लीप वर्ष में फरवरी का महिना 29 दिन का होता है। इस कारण 29 फरवरी को Leap Day भी कहा जाता है।

लेकिन पाठकों क्या कभी आपने सोचा की हर चार साल में एक ही बार लीप वर्ष क्यों होता है। तो इसके बारे में भी हम आपको जानकारी देने वाले है।

Leap Year क्यों होता है ? चार साल में एक बार लीप वर्ष क्यों होता है ?


चार साल में एक बार लीप वर्ष आने के पीछे भी वैज्ञानिक कारण है जो कुछ इस प्रकार है -

पृथ्वी को सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में 365 दिन,6 घंटे का समय लगता है। एक सामान्य वर्ष को हम 365 दिन का मानते है। सामान्य वर्ष में फरवरी के महीने में 28 दिन ही होते है।

चार साल बाद एक वर्ष को 366 दिन का माना जाता है। क्योकि पिछले चार सालों के बाकी बचे 6 घंटो को मिलाकर एक दिन बन जाता है। और इस एक बढ़े हुये दिन को फरवरी के महीने में जोड़ दिया जाता है। इस कारण इस वर्ष के फरवरी के महीने में 29 दिन होते है।

इस कारण चार साल में एक साल ऐसा आता है जिसमें 365 दिन की जगह 366 दिन होते है। उसी साल को हम Leap Year कहते है।

शायद अब आप यह समझ चुके होगे की लीप इयर क्यों आता है।

अगला लीप वर्ष कब आयेगा ? कोई साल लीप ईयर है या नहीं कैसे पता करे ? लीप वर्ष पता करने के नियम 


हर चार साल में एक बार Leap Year होता है। जैसा की 2020 एक लीप वर्ष है। तो इसके चार साल बाद मतलब 2024 में अगला Leap Year होगा।

लेकिन कैसे पता किया जाता है कोई वर्ष लीप वर्ष है या नहीं, किसी भी वर्ष को लीप वर्ष होने के लिए उसे दो बातो को पूरा करना होता है।

पहली बात वह साल 4 से पूरी तरह विभाजित होना होना चाहिए। जैसे वर्ष 2016 चार से पूरी तरह विभाजित है।

दूसरी बात वह साल 100 से पूरी तरह से विभाजित नहीं होना चाहिए। जैसे 2016 में 100 का पूरा - पूरा भाग नहीं जाता है।

लेकिन यदि कोई वर्ष 4 से पूरी तरह विभाजित है,100 से पूरी तरह विभाजित है और 400 से भी पूरी तरह से भाज्य है तो उसे भी Leap Year माना जायेगा।

जैसे वर्ष 2000 में 4,100 व 400 का पूरा - पूरा भाग जाता है । इस कारण वर्ष 2000 एक लीप वर्ष माना जाता है।

जैसे वर्ष 1700 में 4 व 100 का पूरा - पूरा भाग जाता है। लेकिन 400 का पूरा भाग नहीं जाता है। इस कारण वर्ष 1700 को हम सामान्य वर्ष ही मानते है।

एक शताब्दी में कितने लीप वर्ष होते है ? 100 वर्ष में कितने लीप वर्ष होते है


यह प्रश्न बहुत सी प्रतियोगी परीक्षों में पूछा जा चुका है। तो आइये पाठको इस सवाल का जबाव तलाशते है।

जैसा की हम सभी जानते ही है कि,एक शताब्दी में 100 वर्ष होते है।

एक शताब्दी में 24 Leap Year होते है।

एक लीप वर्ष में कितने सप्ताह होते हैं ?


यह प्रश्न भी बहुत सी प्रतियोगी परीक्षा में पूछा जा चुका है। तो आइये इसका जबाव जानते है।

यदि कोई वर्ष लीप ईयर है उसमें तो 52 सप्ताह और 2 दिन होते है और यदि कोई वर्ष लीप ईयर नही है तो उसमें 52 सप्ताह 1 दिन होता है।

इसी कारण एक वर्ष में सामान्य रूप से 52 सप्ताह ही माने जाते है।

हम आशा करते है की आज की इस पोस्ट को पढ़कर आपको "Leap Year व Leap Day" के बारे में सभी सवालो के जबाव मिल गये होंगे। यदि यह पोस्ट आपको अच्छी लगी है तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे। 
--
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।