इंकलाब जिंदाबाद नारे का अर्थ 95% लोगो को नहीं पता होगा ? जान लीजिये

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है की शहीद भगत सिंह व उनकी साथी क्रांतिकारी जिस नारे को बुलंद आवाज़ में अंग्रेजो के सामने बोलते थे उसकी क्या मतलब है.आज के इस आर्टिकल में हम आपको इसी नारे के बारे में जानकारी देने वाले है.


इन्कलाब-जिंदाबाद-नारे-का-अर्थ


इंकलाब जिंदाबाद नारे का अर्थ 95% लोगो को नहीं पता होगा ? जान लीजिये,Meaning of Inklab Zindabad slogan in Hindi


इंक़लाब ज़िन्दाबाद हिन्दुस्तानी भाषा का नारा है, जिसका अर्थ है 'क्रांति की जय हो'। इस नारे को भगत सिंह और उनके क्रांतिकारी साथियों ने दिल्ली की असेंबली में 8 अप्रेल 1929 को एक आवाज़ी बम फोड़ते वक़्त बुलंद किया था। 

अब आप यह तो जान गये की इस नारे का क्या मतलब होता है लेकिन अब मैं आपको बताने वाला हूँ की इस नारे के लेखक कोन थे.किस लेखक की कलम से यह नारा निकला जिसे सुनकर अंग्रेज लोग कांप जाया करते थे.यह नारा मशहूर शायर हसरत मोहानी ने एक जलसे में, आज़ादी-ए-कामिल (पूर्ण आज़ादी) की बात करते हुए दिया था।

भगत-सिंह-सुखदेव-राजगुरु-महान-क्रांतिकारी


तो हम उम्मीद करते है की आपको इस नारे का अर्थ समझ में आ गया होगा.आपसे निवेदन है की देश भक्त बने और शहीदों का सम्मान करे.आज की इस पोस्ट को ज़रूर शेयर करे.जिससे हिंदुस्तान के लोग जागरूक हो जाये.
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।