कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं भजन Mp3 Song Video Lyrics

आप सभी का आज की इस पोस्ट में स्वागत है। इस पोस्ट में हम आपको कुमार विशु के द्वारा गाया गया एक निर्गुण भजन जिसका नाम "कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं " सुनाने वाले है और  इस भजन के लीरिक्स "Kabhi Pyase Ko Pani Pilaya Nahin Lyrics" भी पेश करने वाले है।

यह भजन बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध साबित हुया है। "आज भी "कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा" एक सबसे ज्यादा सुने जाने वाले निर्गुण भजनो में से एक है। Kumar Vishu के गाये सभी भजन ही बहुत अच्छे  होते है।

Kabhi-Pyase-KO-Pani-Pilaya-Nahin-Baad-Amrit-Pilane-Se-Kya-Fayda-Mp3-Bhajan-Song

"कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं" [ Kumar Vishu Bhajan ] "Kabhi Pyase Ko Pani Pilaya Nahin" Mp3 Song Video


यदि आप इस भजन का Mp3 Song सुनना चाहते है तो नीचे लिंक पर क्लिक करके सुन सकते है।

kabhi pyase ko pani pilaya nahi bhajan video देखने के लिए नीचे विडियो पर क्लिक करे।

Video Credit :

Youtube Channel Name - Bhakti Bhawna





Kabhi Pyase KO Pani Pilaya Nahin Baad Amrit Pilane Se Kya Fayda Mp3 Bhajan Song Lyrics - निर्गुण भजन लीरिक्स 


 Artist
 Vishu Bhatnagar
 Release date:
20 September 2001 
 Label:
 T-Series

कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं बाद आँसू बहाने से क्या फायदा

मैं तो मंदिर गया पूजा आरती की पूजा करते हुये ये खयाल आ गया
कभी माँ - बाप की सेवा की ही नहीं सिर्फ पूजा करने से क्या फायदा
कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं -------
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं ------

मैं तो सत्संग गया गुरबानी सुनी गुरबानी को सुनकर ख्याल आ गया
जन्म मानव का लेके दया न करी फिर मानव कहलाने से क्या फायदा
कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं ----
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं -----

ओ मैंने दान किया मैंने जप - तप किया दान करते हुये ये खयाल आ गया
कभी भूखे को भोजन खिलाया नहीं दान लाखो का करने से क्या फायदा
कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं ----
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं -----

गंगा नहाने हरिद्वार काशी गया गंगा नहाते ही मन में ख्याल आ गया
तन को धोया मन को धोया नहीं फिर गंगा नहाने से क्या फायदा
कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं --------
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं ---------

मैंने वेद पढे मैंने शास्त्र पढे शास्त्र पढ़ते हुये ये ख्याल आ गया
मैंने ज्ञान किसी को बांटा नहीं फिर ज्ञानी कहलाने से क्या फायदा
कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं बाद आँसू बहाने से क्या फायदा

माता पिता के चरणों में चारो धाम है आजा - आजा ये ही मुक्ति का धाम है
पिता माता की सेवा की ही नहीं फिर तीर्थों में जाने का क्या फायदा

कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा
कभी गिरते हुये को उठाया नहीं बाद आँसू बहाने से क्या फायदा



यदि आज की यह पोस्ट आपको पसंद आती है तो इस पोस्ट को सोश्ल मीडिया पर शेयर जरूर करे। इसी तरह के भजन की अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिये आप हमारे ब्लॉग के साथ बने रहे। 
--
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।