कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी

सरकार द्वारा 21 दिन के लिये लगाये गये Lockdown का पालन जरूर करे। कोरोना जैसी महामारी को देश में फैलने से रोकने के लिये और खुद इससे बचने के लिये घर से बाहर न निकले। सरकार द्वारा दिये जा रहे निर्देशों का पालन जरूर करे।

Thursday, 29 November 2018

Bounce Rate क्या है इसको कम कैसे रखे ?

आज की इस Blogging से संबंधित पोस्ट में आपका स्वागत है.इस पोस्ट में मैं आपको Bounce Rate से संबंधित हर तरह की जानकारी दूँगा.क्योकि नए Blogger अक्सर यह पूछते है की Bounce Rate क्या है,Bounce Rate को Check कैसे करे,Bounce Rate बढ़ने के क्या कारण है और Blog Site का Bounce Rate कम कैसे कर सकते है.तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े क्योकि हर एक Blogger/Website Owner को इस Topic पर जानकारी ज़रूर होनी चाहिए.


आप एक Blogger है और आपका ब्लॉग है,जिस पर आप Daily Post लिखते है और अपने Blog को बेहतर बनाने की कोशिश हर दिन करते है.लेकिन यदि आप यह देखना चाहते है की आप जो Hard Work Blogging को लेकर कर रहे है वो सही दिशा में या रहा है या नहीं तो मैं आपसे कहूँगा कि आप अपने Blog की Bounce Rate को Check कर ले.यदि आपके Blog की Bounce Rate कम है तो आप सही दिशा में बढ़ रहे है,लेकिन यदि Blog Bounce Rate अधिक है तो इसका मतलब है कि कही ना कही कोई कमी रह रही है.

bounce-rate-kya-hai-bounce-rate-check-kaise-kare-bounce-rate-kam-kaise-kare

Bounce Rate क्या होता है 


इसे मैं सबसे आसान तरीके के द्वारा आपको समझाने की कोशिश करता हूँ.मान लीजिये आपके ब्लॉग पर 200 लोग हर दिन आते है.यदि उनमे से 100 लोग आपके Blog पर आने के बाद केवल एक पोस्ट को पढ़कर ही वापिस चले गये यानि की उनके द्वारा कोई और पोस्ट नहीं पढ़ी गयी केवल एक ही पोस्ट पढ़ी गयी.तो इसका मतलब है कि आपके ब्लॉग की Bounce Rate 50% है.


यानि की Bounce Rate हमारे Blog पर आने वाले कुल लोगो में से उन लोगो का प्रतिशत होती है जो हमारे ब्लॉग की केवल एक पोस्ट को पढ़कर ही वापिस चले जाते है..इसको आप इस उदाहरण द्वारा समझे -


आपके ब्लॉग पर एक दिन 1000 लोग आये और उनमे से 500 लोगो ने आपके ब्लॉग की केवल एक Post को पढ़ा और वह एक पोस्ट को पढ़कर वापिस चले गये,इस प्रकार आपके ब्लॉग की उस दिन की Bounce Rate 50% है.अब मान लीजिये की 1000 में से केवल 300 लोग ही ऐसे थे जिनके द्वारा आपके ब्लॉग की एक पोस्ट को पढ़ा गया और वह एक पोस्ट को पढ़कर ब्लॉग को छोड़ कर चले गये.तो इसका मतलब है की तब आपके ब्लॉग का Bounce Rate 30% है.


यानि की जब किसी यूजर को हमारी पोस्ट पसंद आती है या उसके काम में आती है तो वो हमारे ब्लॉग की दूसरी पोस्ट को भी ज़रूर पढता है.लेकिन जब किसी को हमारे ब्लॉग की पोस्ट पसंद नहीं आती है तो वह दूसरी पोस्ट को नहीं पढता है.इस प्रकार हमारे Blog की जितनी Bounce Rate कम होती है उतना हमे benefits होता है.क्योकि इससे साफ़ साफ़ पता लगता है कि हमारे ब्लॉग की पोस्ट्स को यूजर पसंद करते है और वह एक पोस्ट के अलावा  दूसरी पोस्ट को भी ज़रूर पढ़ते है.


यानि की यदि आपके Blog की Bounce Rate कम है तो अच्छा है लेकिन यदि Blog Website की Bounce Rate ज्यादा है तो इसका मतलब है कि हमे Blog के Contents को User friendly बनाने के लिए ज्यादा मेहनत करनी होगी.

Bounce Rate को Check कैसे करे ?


अब हम बाउंस रेट के बारे में जान चुके है तो अब यह सवाल आता है कि ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट चेक कैसे करते है.हम इसके लिए Google द्वारा प्रदान की जाने वाली Free Service Google Analytics का Use करते है.इस Tool के द्वारा हम ब्लॉग या वेबसाइट की Last 90 दिनों की,Last 30 दिनों की,Last 7 दिनों की, और आज के दिन की Bounce Rate Check कर सकते है.इस टूल में हम Session Time भी check कर सकते है कि एक User हमारे ब्लॉग पर क्तिना Average Time Spend करता है.

इस tool से ब्लॉग की बाउंस रेट चेक करने के लिए पहले हमे Google Analytics Account बनाना होता है जिसकी जानकारी आपको इस पोस्ट से मिल जाएगी.

आदर्श Bounce Rate कितना होना चाहिए ?


इसका सीधा सा उत्तर है कि जितना कम बाउंस रेट होता है उतना अच्छा है,लेकिन फिर भी यदि आदर्श Bounce Rate की बात की जाये तो यह लगभग 50% से नीचे ही होना चाहिए.क्योकि इससे ज्यादा Bounce rate किसी भी ब्लॉग के लिए एक चेतावनी होती है.लेकिन आपको घबराने की ज़रूरत नहीं है.क्योकि अक्सर नए Blog या Website की यह Rate शुरुवात में ज्यादा ही होती है.जब हम धीरे धीरे ब्लॉग को बेहतर बनाते जाते है यह कम हो जाती है.



Bounce Rate बढ़ने के क्या कारण है ?



देखिए यह सवाल बहुत important है.किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट या यदि Bounce Rate ज्यादा है तो उसके पीछे कई कारण हो सकते है जिनमे कुछ कारण इस प्रकार है -


1 - ऐसा Content जो Visitors को पसंद न आता हो - मान लीजिये की आपको History पढना अच्छा लगता है लेकिन आपको कोई Science से संबंधित Book पढने को दे दी जाये तो वह आप ज्यादा देर तक नहीं पढोगे.इसी प्रकार Blog पर आने वाले Visitors को जब उसके मन पसंद कंटेंट नहीं मिलता या उसको हमारा लिखा हुए Content पसंद नहीं आता है तो वह ब्लॉग पर ज्यादा समय तक नहीं रुकता है जिससे बाउंस रेट बढ़ जाती है.


2 - Blog या Website का Design अच्छा न होना - मान लीजिये की आपको कोई ऐसी किताब पढने को दी जाये जो आपको बहुत पसंद है लेकिन उसकी हालत बहुत खराब है उसके पन्ने क्रम अनुसार नहीं है तो उस किताब को पढने में भी आपको Problems ज़रूर आएगी.इस प्रकार हमारे ब्लॉग पर आने वाले Visitors को यदि हमारी लिखी पोस्ट तो पसंद है लेकिन Blog का Design नहीं तो भी वह ज्यादा देर तक ब्लॉग पर नहीं रुकते है.इस कारण भी ब्लॉग का Bounce Rate Increase हो सकता है.


3 -  ब्लॉग या वेबसाइट का Load Time अधिक होना - यदि हमारे Blog या Website को सही तरीके से Load होने में ज्यादा समय लग रहा है तो भी Visitors ब्लॉग पर ज्यादा देर नहीं रुकते है.आप ही सोचिये की जब कोई Site जल्दी Open ही नहीं हो रही है तो उस पर रुकने का सवाल ही नहीं उठता है.


Blog या Website का Bounce Rate कम कैसे करे ?

Bounce Rate को कम करने के लिए आप नीचे दिए गये सुझावों पर ध्यान दे.क्योकि मुझे आशा है कि यदि आप इस सुझावों पर ध्यान देंगे तो आप आसानी से अपने Blog या Website की Bounce Rate को कम कर सकते है.

1 - हमेशा Quality Contents लिखे – यदि आप Bounce Rate को कम करना चाहते है तो हमेशा ब्लॉग पर Quality Contents ही पब्लिश करे.क्योकि Visitors उस पोस्ट को ही पढना चाहते है जो उनके काम में आती हो.यदि आप ऐसा content पब्लिश करेगे जो बहुत ही Boring प्रकार का होगा तो कभी भी visitors उस Content को पूरा नहीं पढ़ेगा.कई Blogger Post लम्बी लिखने की कोशिश में कई बार Post Title से भटक जाते है और Unrelated Words Blog Post में Use करते है.जिससे Post की Quality कम हो जाती है.इस कारण आप Post में केवल उन Words का ही use करे जो पोस्ट से संबंधित हो.जिससे Users Post को पूरा पढ़े.


2 - Internal Linking ज़रूर करे - आप जो भी Post पब्लिश करते है उसमे हमेशा उस पोस्ट से संबंधित Posts की links को भी add करे.जिससे User उस Link पर क्लिक करके दूसरी Post को पढ़ सके.जिससे हमे यह फायदा होता है कि Users का हमारे Blog पर Average Time ज्यादा Spend करता है.इस प्रकार एक Blog Post में उससे संबंधित Posts की Links हो बीच - बीच में Add करना internal Linking कहलाता है.यदि Blog Post में सही तरीके से Internal Links Add की जाये तो इससे Bounce Rate कम करने में बहुत मदद मिलती है.


3 - Related Post Widget को Blog में लगाना - ब्लॉग पोस्ट के End में ब्लॉग पोस्ट की केटेगरी से संबंधित कुछ पोस्ट एक widget के रूप में show होती है.जिसे Related Post Widget कहते है.इससे जब कोई Visitors ब्लॉग पोस्ट को पूरा पढ़ते है तो उनको कुछ और भी संबंधित Category से संबंधित पोस्ट दिखती है.इससे यदि उनके कोई काम में आने वाली पोस्ट पर उनकी नजर चली जाये तो वह उस पर क्लिक करके दूसरी पोस्ट को भी ज़रूर पढ़ते है.जिससे Bounce Rate कम हो जाती है.


4 - Blog का Design Clean रखना -- देखिए ब्लॉग को Clean Design करना चाहिए.जिससे Blog की हर एक पोस्ट,Category,Widgets आदि साफ़ साफ़ दिखे.क्योकि जिस ब्लॉग की Navigation बहुत Easy होती है उसको users आसानी से Navigate कर सकते है.जिससे वह ज्यादा पोस्ट को आसानी से पढ़ सकते है.कभी भी ब्लॉग को ज्यादा Colourfull Design नहीं करना चाहिए.क्योकि ज्यादा Colours देखने में अच्छे नहीं लगते है क्योकि यह आँखों में ज्यादा चुभते है.Blog का Design Responsive रखे,Mobile फ्रेंडली theme use करे.क्योकि आजकल Mobile डिवाइस ज्यादा प्रचलन में है..यदि आप Blogger Blog के लिए Clean Design वाले Theme चाहते है तो इस पोस्ट को ज़रूर पढ़े.


5 - ज्यादा Advertisment Ads न लगाये - पोस्ट में ज्यादा Add लगाने से Users को Post पढने में बहुत परेशानी होती है.इस लिए एक पोस्ट में आप अधिकतम 3 से 4 ads type ही लगाये.ज्यादा Ads लगाने से Loading Speed भी कम हो जाती है.


6 - Website या Blog Fast Loading होना चाहिए - हमेशा ध्यान रखे की आपका ब्लॉग जल्दी Open हो जाना चाहिए.क्योकि यदि Blog या Website को Load होने में ज्यादा वक़्त लगता है तो USERS उस ब्लॉग को visit करने में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं दिखाते है ,ब्लॉग की loading time को कम करने के लिए आप इन चीजो पर विशेष ध्यान दे जिससे ब्लॉग की Bounce Rate कम होने में मदद मिलती है.

(A )ब्लॉग में कभी भी ज्यादा widget ADD न करे

(B) ब्लॉग पोस्ट में 3 से 4 Ads लगाना काफी है.क्योकि ज्यादा ads से ब्लॉग को load होने में ज्यादा समय लगेगा.

( C )ब्लॉग में ज्यादा images न लगाये क्योकि images को load होने में ज्यादा वक़्त लगता है.इस लिए Blog Post में इस्तेमाल करने के लिए Images को Compress कर ले.जिससे उनका साइज़ कम हो जाये.


7 - User के साथ कनेक्ट रहे - हमेशा Blog पोस्ट को कुछ इस style में लिखे कि आपका Users के साथ संबंध बना रहे.क्योकि इससे Users Blog Post को ज्यादा गहराई से पढता है.मै,आपसे हम,आपको, ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने से पोस्ट ज्यादा इंटरेस्ट बन जाती है.पोस्ट के बीच बीच में ब्लॉग के पाठको को प्रेरणा देते रहे.ब्लॉग पोस्ट के अंत में यूजर को कमेंट करने के लिए भी प्रेरित करे.
तो कुल मिलाकर हम इस  तथ्य पर पहुँचे है कि Blog या Website की Bounce Rate जितनी कम होगी.उतना ही हमे इसका ज्यादा Benefits मिलेगा.आप कमेंट में ज़रूर बताये की आपके ब्लॉग की Bounce Rate कितनी रहती है.फिर मैं आपको बताने की कोशिश करूँगा की आपके ब्लॉग की Bounce Rate अच्छी है या नहीं.तो इसी तरह की Blogging,Search Engine Optimization से संबंधित पोस्ट को सबसे पहले पढने के लिए ब्लॉग का Newsletter भी ज़रूर सब्सक्राइब करे.
-*-

जानकारी अच्छी लगी है तो Facebook Page Like जरूर करे

Share This Post :-


No comments:

Post a Comment

आपको पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखे,यदि आपका कोई सवाल है तो कमेंट करे व उत्तर पाये ।